how to use six Sigma-Hindi

How to use six Sigma-Hindi 

how to use six Sigma-Hindi | why we use Six Sigma | benefits of Six Sigma-Hindi
www.businessesmanagementcom
Six Sigma Concept (आपकी बिचार ,योजना ,कल्पना ,इरादा ,अवधारणा को एक सरल तरीके से इसको लक्ष्य में तब्दील करता है और उसे पूरा करने में मदद करता है। 

best से best (customer satisfaction) ग्राहक संतुष्टि और व्यापार के लिए परिवर्तन और उत्तम बस्तु (Materials) और सेवाओं (Service) को बेचना (sale) करना आसान और profitable बनता है 


दोस्तों मै आपको बता देना चाहूंगा की की हमारा मकसद एक classroom teacherके तरह आपको पढ़ाना नहीं है और ना ही किसी प्रकार का डिग्री दिलाना है मेरा मकसद है की आपको व्यवसाय से सम्बंधित ऐसी जानकारी और उतनी ही जानकारी दू जितना की आप उपयोग कर सके।

मेरा मानना है की आपको किसी भी चीज के concept पर focus करना चाहिए और आपको किसी भी बिषय का main main point को पढ़ना ही नहीं बल्कि समझने की जरुरत है तो आइये जानते है Six Sigma के उपयोगी concept को जो आप सभी को मालूम होना ही चाहिए। 


आप अगर six 6 SIGMA के CONCEPT से अपने लक्ष्य को प्राप्त करना चाहते है तो आपको दो तरीके से से प्राप्त कर सकते हैं:

1. आपको अपनी समस्या की पहचान करनी होगी – Identification of the problem 

- जो आप काम कर रहे है वो कैसे होना चाहिए? ,कैसे हो रहा है?, उस कार्य से क्या लाभ है और क्या हानि है?, उस कार्य में गलती कहा पर हो रही है?, उस कार्य को करने के लिए सही मार्गदर्शक है ?, ये कार्य कैसे काम करता है? ,क्या इस करए सुधार की आवश्यकता है?इत्यादि 


2. समस्या का समाधान -Solving the problem 

अब जब आपको ज्ञात हो जाए की समस्या क्या है तो आप अपनी कार्य में होने वाली समस्या हटाने और लक्ष हासिल करने के लिए अपने function को जल्द ही बदलना पड़े तो बदल देना चाहिए।


सिक्स सिग्मा की पांच प्रमुख सिद्धांत है - five main principles of Six Sigma: 


1. आप अपनी काम की (source) स्रोत की Value को (Measure up ) मापें और अपनी कार्य में होने वाली समस्या का पता लगाएं। 

six sigma कैसे आपकी कार्य छेत्र में होने वाली समस्या को ढूढ़ती है की problem कहा पर था या है इसके लिए six sigma जिस छेत्र में problem हो रही है उस कार्य area का (Deta collection) डेटा संग्रह करती है और उसको आपके process के साथ मिलाती है उदाहरण के लिए :

मान लीजिये आप समोसा बनाए और उसके recipe और मात्रा का एक डेटा बनाए की कितने समोसे में क्या और कितनी मात्रा में materials उपयोग किए अब समोसा खाने के बाद अगर किसी (ingredients) सामग्री की मात्रा ज़्यदा या काम लगा तो आप इसको कम या ज्यादा कर सकते है और आपको हर बार का डेटा बनाए रखना होगा और आप जब तक जारी रखेंगे जब तक आपकी चीजे परफेक्ट न हो जाए।

 six sigma या कोई और problem को identify या find करने के लिए डेटा का होना बहुत जरुरी है। समस्या को पहचानने के लिए आप खुद प्रश्न पूछें और मूल कारण को खोजें।

2. ग्राहक पर ध्यान दें- Focus on the Customer 

दोस्तों दुनिया का कोई भी business customer के बिना नहीं चल सकता ये आप भी जानते ही है इसलिए हमको business के साथ साथ कस्टमर पर भी उतना ही ध्यान देने की जरुरत है जितना की आप अपने बिज़नेस पर देते है या देने वाले है। जैसे की आपने लोगो से सुना ही होगा की "ग्राहक राजा है या ''ग्राहक भागवान के रूप होते है '' इत्यादि ।

" सबसे पहला आपका लक्ष्य ग्राहक को अधिकतम लाभ पहुंचाना होना चाहिए । इसके लिए, आपको अपने ग्राहकों की जरुरत समझने की जरूरत है। और आपको ग्राहक या बाजार की मांग के अनुसार अपनी (Quality) गुणवत्ता के standard Set करने की आवश्यकता है। 

3. Get rid of junk- कबाड़ से छुटकारा पाएं 

आपकी कार्य से समस्या की पहचान हो जाने के बाद, difference को समाप्त करने के लिए प्रक्रिया में परिवर्तन करें और दोषों को दूर करे । आप इस प्रक्रिया में उस (Activities) गतिविधियों को निकालें जो ग्राहक के (value) मूल्य में नहीं जुड़ती हैं। 

4. Keep the Ball Rolling 

सभी हितधारकों (Stakeholders) या business partner को शामिल करें ऐसे activity करते समय और एक Structured प्रक्रिया को अपनाएं जहां आपकी टीम भी आपकी टीम भी आपकी business की समस्या-समाधान योगदान कर सके । 

हो सके तो अपनी कंपनी या business में (Six sigma processes)सिक्स सिग्मा प्रक्रियाओं के लिए एक संगठन बनाइये जो ये सुनिश्चित करे की सब चीजे अच्छे से काम कर रहे है या नहीं 

5. Ensure a Flexible and Responsive Ecosystem 

सिक्स सिग्मा का essence सार है व्यवसाय में परिवर्तन और परिवर्तन जब तक कोई काम Free of fault या Inefficient process को हटा न दिया जाए , ये जब संभव होगा जब किसी कार्य को बार बार अभ्यास करेंगे और डेटा को record करंगे और (Employee perspective कर्मचारी दृष्टिकोण में बदलाव कर दिया जाए । 


इस प्रक्रियाओं में तुरंत बदलाव लेन के लिए आपको लचीलापन और जवाबदेही बनाना पड़ेगा । इसमें शामिल लोगों को और सभी विभागों को प्रक्रियाओं को अपनाने के लिए डिज़ाइन किया जाना चाहिए। 


Six Sigma सिक्स सिग्मा की संक्षिप्त जानकारी

अगर मुझे आपको संछिप्त में समझाना हो तो मैं यू कहूंगा की Six Sigma का concept अपने काम को कई बार अभ्यास के तौर पर दोहराता है और हर बार deta record करता है और हर बार  function को change करता है  ये activity  जब तक जारी रखता है जबतक कोई काम पूरी तरह दोसमुक्त न हो जाये या कोई product परफेक्ट न हो जाए।

ऐसा आप भी कर सकते है चाहे आप कोई भी field में हो आप six sigma concept को अपना सकते है। 


दोस्तों six sigma समस्या को सुलझाने के लिए बहुत सारे Method का उपयोग करता है जैसे :5s ,Damic इत्यादि अगले ब्लॉग में इसे समझेंगे। एक ही blog में अगर सबकुछ डाल दूंगा तो आपको ये blog  उबाऊ लगने लगेगा और आपको पढ़ने का मन नहीं करेगा और आप सही से नहीं समझ पाओगे।

आप इसे भी देखें :

ज्यादा जानकारी के लिए Home Page पे जाकर Menu को देख सकते है।   






Share this:

Post a Comment

Thank you for your comment.

 

Copyright (c) 2020 Businessesmanagement.com All Right Reseved

Copyright © Business Management . businessesmanagement | Distributed By Business Management Templates