how to grow your business in Hindi

March 05, 2020

 how to grow your business-[Hindi] | How do you build a big business? | small business growth 

 how to grow your business-[Hindi] | How do you build a big business? | small business growth
www.businessesmanagement.com

व्यापार -दोस्तों  आजकल बिजनेस या धंधा कोई भी किसी चीज का और कभी भी और कहि भी स्टार्ट कर दे रहा है। और एक चीज आजकल आप जिससे भी पूछिए कैसा चल रहा है धंधा तो बोल रहा धंधा मंदा चल  रहा है।  कारण है :


  • आर्थिक मंदी के वजह से
  • GST के आने के वजह से।
  • Demonetisation के वजह से।
  • और आजकल तो कोरोना वायरेस भी आ गया है।

दूसरी तरफ आप और कंपनियों को देख लीजिये तरक्की करते जा रहे है।  OLA कंपनी को देख लीजिये 2010 में बेंगलोरे में स्टार्ट होकर पूरा इंडिया में राज कर कर रहा है इसका बाद Swiggy है Zomato है गुरगवां से निकला आज पूरा india में फ़ैल गया है

 OYO Room को देख लीजिये एक होटल के रूम से कंपनी को चालू किया आज पूरा india उसको जनता है flipkart को देख लीजिये ऐसे बहुत सारे कंपनी है जो लाखो से स्टार्ट होकर करोड़ो खरबों तक आ गए वही हमलोगो से अपना business ही नहीं संभल रहा है। 

तो ऐसा क्या करे ऐसा क्या आईडिया लेकर आये जिससे हमारा बिजनेस growth करे और scalable हो बहुत लम्बा दुरी तय करे। दोस्तों हमने पिछले ब्लॉग में बताया था की 100 में से 85 % से भी ज्यादा business कुछ दिनों के बाद बंद हो जाता है।

अच्छा आप सोचिये अगर आपको कही जाना होता है तो पहले google map पे जाकर देखते है न की कौन सा रास्ता नजदीक है और कौन सा रस्ते पे जाम है या नहीं है जाम होने पर google map  दूसरा रास्ता होने पर बता देता है की आप यहाँ से जाइये अगर आप google map  उपयोग नहीं करते होंगे तो किसी से पूछते जरूर हैं।

 अगर आप ये दोनों नहीं करेंगे तो शायद आपको घंटो जाम में फसना पड़ सकता है या लम्बी दुरी करना पड़ सकता है।

ठीक उसी प्रकार हमलोग बिजनेस का चुनाव भी वैसा कर लेते है जिसमे बहुत भीड़ रहती है पहले से ही उसमे बहुत लोग खड़े होते और हम भी वही हो जाते है जिसमे बड़ी रकम के साथ लम्बी समय तक फसे रहते है

दोस्तों हम लोगो को बिजनेस के वैसा रास्ता ढूढ़ना है जिसपे चलकर जल्दी आगे निकला जाये चाहे थोड़ा पैदल क्यों चलनी पड़े कच्ची रस्ते पे क्यों चलनी पड़े लेकिन निकलना है भीड़ में लोगो के साथ नहीं फसना है।


आपका idia बिलकुल सिम्पल होना चाहिए complicated नहीं जो खुद को ही समझ में ना आये। आपको खुद को फ़साने वाला बिजनेस आईडिया नहीं होना चाहिए आपका business वैसा होना चाहिए की आपके employee आपके ठकेदार आपके contractor उसबिजनेस चला सके और आप पलनीनिंग सके। 

अधिकतर लोग खुद काम करने में दिनों रत लगे रहते है बिना कोई strategy के ना कोई method ,न कोई तकनीक कुछ भी सोचने तक के भी समय नहीं मिलता उनको तो कैसे अपने बिजनेस को scalable कर पायंगे। अगर कुछ बन भी गए तो किसी चौक का famous होकर रह जायँगे।






आपको इन सब चोजो के माधयम से अपने बिजनेस का काम लेना चाहिए ये जल्दी और स्मार्टली तरीके से काम करेंगे और समय और पैसा और आपका टेंशन को काम करंगे जिससे आप अपने बिजनेस को आगे बढ़ने का सोच सकते है और काम करेंगे। 
Machine learning


  • artificial intelligence

  • cloud computing

  • applications

  • Email Broadcasting

  • ERP Application

  • Technical mechanism 


दोस्तों सिर्फ idea से आप बिजनेस को grow नहीं करा सकते यहाँ कुछ Factor है जिसको देखिये। 




Team टीम 


आपका टीम कैसा है ये बहुत impotent है आपके बिजनेस के लिए जैसे आपका बिजनेस पार्टनर आपका employee ये जो आपके बिजनेस में involve है।

जैसे आपके टीम को बिजनेस का कितना ज्ञान है वो आपके नहीं रहने पर भी बहुत अच्छे से बिजनेस को चला लेते है नहीं। आपके टीम आपके बिजनेस के लक्ष को समझते है या नहीं। आदि।



Business model व्यापार मॉडल। 


ये भी बहुत impotent है आपके बिजनेस के लिए आपको देखना होगा की क्या हमारा बिजनेस बढ़ने scalable लायक है हमारा बिजनेस में मुनाफा है उसमे Ecosystem है सबको उसमे फायदा फायदा है जैसे हमलोग Swiggy  कंपनी की बात करे तो इसमें Swiggy को तो फायदा है ही जो खाना deliver करता है उसको फायदा है जो application पे काम करता है उसको फायदा है होटल को भी फायदा इसको Ecosystem बोलते है 

सब लोग अपने फायदे के लिए जी तोड़ महनत करेंगे तो बिजनेस अपने आप बढ़ेगा। दूसरा आपके बिजने में competition कम होना चाहिए भीड़ नहीं होना चाहिए उस बिजनेस में ।अगर आपका बिजनेस अच्छा है तो आप जरूर आगे निकल जाओगे। 

Business timing बिजनेस टाइमिंग 

अगर आप कोई नया business लेकर आना चाहते है तो ये जरूर देख लीजिये की क्या इस बिजनेस के लाने के लिए उचित समय है। मन लीजिये आप होली के समय पटाखे और दीपावली के समय पिचकारी लेकर आयंगे मार्किट तो कैसे Grow करेगा आपका बिजनेस। नहीं चलेगा आगे नहीं बढ़ेगा। तो सही समय और सही बिजनेस मोडल का इंतजार कीजिये और स्टार्ट कीजिये






Best Small Business Ideas of 2020

March 04, 2020

Best Small Business Ideas of 2020-[Hindi] | Low cost & easy and simple

Best Small Business Ideas of 2020-[Hindi] | Low cost & easy and simple
www.businessesmanagement.com

2020
के लिए छोटे व्यवसायिक के विचारों की बहुत लम्बी लिस्ट है हमारे पास उसमे से कुछ हम आपको बताने जा रहे है
यदि आप एक बिज़नेस चलना चाहते हैं, तो आपको सबसे पहले एक सही बिज़नेस का चुनाव करना चाहिए

व्यवसाय शुरू करने में हमेशा कम इन्वेस्ट और ज्यादा लाभ करने का उद्देश्ये होनी चाहिएहालाँकि, इसके लिए गहन शोध की आवश्यकता होती है।


एक नए ब्योपार को स्टार्ट करने और चलाने का कार्य काफी चुनौती भरा हो सकता है।  व्यावसायिक विशेषज्ञों द्वारा प्रकाशित एक रिपोर्ट के अनुसार, 80% प्रतिशत से अधिक नई कंपनियां पहले वर्ष के भीतर बंद हो जाती हैं। नतीजतन, आपको अपने बिजनेस या स्टार्टअप को स्थापित करने और लॉन्च करने के लिए उठाए जाने वाले कदमों के बारे में बेहद सतर्क रहना होगा।



इसलिए, यदि आप अपना व्यवसाय शुरू करने की योजना (Plan) बना रहे हैं तो  यहां आपको  2020 के कुछ बेहतरीन छोटे बिजनेस आइडिया के बारे में जानेंगे।


Food truck- ट्रक पर रेस्टॉरेन्ट। 


जो लोग खाना पकाने या व्यंजनों का आनंद लेते हैं, वे आमतौर पर एक रेस्तरां के मालिक होने का सपना देखते हैं। लेकिन पूंजी के कमी होने के कारण कुछ करनाही पते है यहाँ पे आपको थोड़े पैसे में पूरा Complete रेस्तरां मिल जाता है न जमीन का लफड़ा ना उसको बनवाने का न डिजाइन का सब कुछ आपको बने बनाये मिल जाता है और आप उसको कही भी Move कर सकते हो Sell के हिसाब से।


मेरे ख्याल से जब तक आपके पास ज्यादा पैसा नहीं है, आपको फूड ट्रक व्यवसाय खोलने पर विचार करना चाहिए। आप कम निवेश के साथ अपने सपने को जी सकते हैं।


Coffee shop - काफी की दूकान।


कॉफी बिज़नेस ने पिछले कुछ वर्षों में तेजी से विकास और लोकप्रियता देखने को मिल रहा है। दोस्तों आज कल ज्यादा करके लोग अपने प्रियजनों के साथ समय बिताने के लिए कॉफी shop पर जाते है क्यों की काम पैसे में बैठने का ठीक ठाक सुबिधा मिल जाता है। यदि आप कॉफी के शौक़ीन हैं, तो आपको इसे एक लाभदायक व्यवसाय उद्यम में बदलना चाहिए।


Food delivery - भोजन पहुचना। 


दोस्तों आजकल व्यक्ति पहले से कहीं ज्यादा व्यस्त हो चुके है। उन्हें भोजन तैयार करने का समय नहीं मिलता है। यही कारण है कि खाद्य वितरण संगठन इन दिनों इतने लोकप्रिय हैं। इसलिए, यदि आप व्यवसाय के अवसर की तलाश कर रहे हैं, तो भोजन पहुचना का ब्योपार कर सकते है ये बहुत आसान है अगर सहर में रहते है ये ब्योपार आप एक छोटी इन्वेस्ट में और आप घर से भी कर सकते है और एक बड़ा business बना सकते हैं। है।











What is cryptocurrency? | Cryptocurrency Definition in Hindi

March 04, 2020

What is cryptocurrency? | Cryptocurrency Definition in Hindi | क्रिप्टोक्यूरेंसी क्या है ?

What is cryptocurrency? | Cryptocurrency Definition in Hindi | क्रिप्टोक्यूरेंसी क्या है ?
www.businessesmanagementcom

  • क्रिप्टोक्यूरेंसी (Cryptocurrency)  एक डिजिटल या Virtual Currency है जिसे Cryptography द्वारा सुरक्षित किया जाता है, जो नकली या दोहरे खर्च को लगभग असंभव बना देता है। 
Cryptocurrency decentralized नेटवर्क हैं जो ब्लॉकचेन तकनीक पर आधारित हैं - एक Distributed computer जो कि कंप्यूटर के एक असमान नेटवर्क द्वारा लागू किया गया है। क्रिप्टोकरेंसी की एक परिभाषित विशेषता यह है कि वे आम तौर पर किसी भी केंद्रीय Authority द्वारा जारी नहीं किए जाते है

  • एक क्रिप्टोक्यूरेंसी एक नेटवर्क पर आधारित डिजिटल संपत्ति का एक नया रूप है जो बड़ी संख्या में कंप्यूटरों में वितरित किया जाता है। यह Decentralized संरचना है क्रिप्टोकरेंसी सरकारों और केंद्रीय अधिकारियों के नियंत्रण के बिना मौजूद होने की अनुमति देती है।

शब्द "क्रिप्टोक्यूरेंसी" एन्क्रिप्शन तकनीकों से लिया गया है जो नेटवर्क को सुरक्षित करने के लिए उपयोग किया जाता है। 

ब्लॉकचैन, जो कि लेनदेन डेटा की Integrity को सुनिश्चित करने के लिए संगठनात्मक तरीके हैं, कई क्रिप्टोकरेंसी का एक Mandatory component है। 



क्रिप्टोकरेंसी एक ऐसी मुद्रा है जो कंप्यूटर एल्गोरिथ्म पर बनी होती है. यह एक स्वतंत्र मुद्रा है जिसका कोई मालिक नहीं होता. यह करेंसी किसी भी एक अथॉरिटी के काबू में भी नहीं होती. 

अमूमन रुपया, डॉलर, यूरो या अन्य मुद्राओं की तरह ही इस मुद्रा का संचालन किसी राज्य, देश, संस्था या सरकार द्वारा नहीं किया जाता. यह एक डिजिटल करेंसी होती है जिसके लिए क्रिप्टोग्राफी का प्रयोग किया जाता है. आमतौर पर इसका प्रयोग किसी सामान की खरीदारी या कोई सर्विस खरीदने के लिए किया जा सकता है.


  • एक क्रिप्टोक्यूरेंसी एक नेटवर्क पर आधारित डिजिटल संपत्ति का एक नया रूप है जो बड़ी संख्या में कंप्यूटरों में वितरित किया जाता है। यह विकेंद्रीकृत संरचना उन्हें सरकारों और केंद्रीय अधिकारियों के नियंत्रण के बाहर मौजूद होने की अनुमति देती है।


  •  शब्द "क्रिप्टोक्यूरेंसी" एन्क्रिप्शन तकनीकों से लिया गया है जो नेटवर्क को सुरक्षित करने के लिए उपयोग किया जाता है।

  • ब्लॉकचैन, जो कि लेनदेन डेटा की अखंडता सुनिश्चित करने के लिए संगठनात्मक तरीके हैं, कई क्रिप्टोकरेंसी का एक अनिवार्य घटक है।

  • कई विशेषज्ञों का मानना है कि ब्लॉकचेन और संबंधित प्रौद्योगिकी वित्त और कानून सहित कई उद्योगों को बाधित करेगी।

  •  क्रिप्टोकरेंसी को कई कारणों से आलोचना का सामना करनापड़ रहा है, जिसमें गैरकानूनी गतिविधियों के लिए उनका उपयोग, विनिमय दर में अस्थिरता और अंतर्निहित बुनियादी ढांचे की कमजोरियाँ शामिल हैं। हालांकि, उनकी Portability, विभाजन, Inflation प्रतिरोध और पारदर्शिता के लिए भी उनकी प्रशंसा की गई है।


क्रिप्टोक्यूरेंसी Cryptocurrency के लाभ।


क्रिप्टोकरेंसी एक बैंक या क्रेडिट कार्ड कंपनी जैसी विश्वसनीय तीसरे पक्ष की आवश्यकता के बिना सिर्फ दो पार्टियों के बीच सीधे धनराशि स्थानांतरित करना आसान बनाने का वादा रखती है। 
इन हस्तांतरणों को सार्वजनिक कुंजी और निजी कुंजी और प्रोत्साहन प्रणालियों के विभिन्न रूपों के उपयोग द्वारा सुरक्षित किया जाता है, जैसे कि प्रूफ ऑफ़ वर्क या प्रूफ ऑफ़ स्टेक। 



आधुनिक क्रिप्टोक्यूरेंसी सिस्टम में, एक उपयोगकर्ता के "वॉलेट," या खाते के पते में एक सार्वजनिक कुंजी होती है, जबकि निजी कुंजी केवल मालिक के लिए जानी जाती है और लेनदेन पर हस्ताक्षर करने के लिए उपयोग की जाती है। 

फंड ट्रांसफर न्यूनतम प्रोसेसिंग फीस के साथ पूरा होता है, जिससे उपयोगकर्ता वायर ट्रांसफर के लिए बैंकों और वित्तीय संस्थानों द्वारा वसूले जाने वाले शुल्क से बच सकते हैं।


क्रिप्टोक्यूरेंसी Cryptocurrency के नुकसान ।

क्रिप्टोक्यूरेंसी लेन-देन की Half-name natureउन्हें अवैध गतिविधियों की मेजबानी के लिए अच्छी तरह से अनुकूल बनाती है, जैसे कि मनी लॉन्ड्रिंग और कर चोरी। 

हालांकि, क्रिप्टोक्यूरेंसी अक्सर गोपनीयता का लाभ उठाने का समर्थन करती है, जो गोपनीयता के लाभ का हवाला देते हैं जैसे कि व्हिसलब्लोअर या दमनकारी सरकारों के तहत रहने वाले कार्यकर्ताओं के लिए सुरक्षा। कुछ क्रिप्टोकरेंसी दूसरों की तुलना में अधिक निजी हैं।

उदाहरण के लिए, बिटकॉइन अवैध व्यापार का संचालन करने के लिए एक अपेक्षाकृत खराब विकल्प है, क्योंकि बिटकॉइन ब्लॉकचेन के फोरेंसिक विश्लेषण ने अधिकारियों को अपराधियों को गिरफ्तार करने और मुकदमा चलाने में मदद की है। 

अधिक गोपनीयता उन्मुख सिक्के मौजूद हैं, हालांकि, जैसे डैश, मोनेरो या ZCash, जिन्हें ट्रेस करना अधिक कठिन है।



BS4, BS6 क्या है?/ Bs4 and bs6 में क्या अंतर है?

BS4, BS6 क्या है?/ Bs4 and bs6 में क्या अंतर है?



BS4 VS BS6 | What is the difference between bs4 and bs6-[Hindi] | What is the meaning of BS 6?
www.businessesmanagementcom

BS6 कारों और दोपहिया वाहनों से निकलने वाले प्रदूषण को नियंत्रित करने के लिए, भारत सरकार ने भारत स्टेज एमिशन स्टैंडर्ड (BSES) नामक नियमों को लेकर आया है। 

केंद्र सरकार ने आदेश दिया है कि सभी वाहन निर्माता, दोपहिया और चारपहिया दोनों वाहनों को 1 अप्रैल 2020 से केवल BS6 (BSVI) वाहनों का निर्माण, बिक्री और पंजीकरण करें।जैसा की आप लोगो को पता होगा की इसके वजह से भारत के अर्थव्यवस्था पर भी काफी प्रभाव देखने को मिल रही है। 


BSES,जो देश में सभी प्रकार के वाहनों से उत्सर्जन के लिए Governing organization ने वर्ष 2000 में 'भारत 2000' नाम के साथ पहला Emission criteria शुरू किया। BS2 और BS3 2005 और 2010 में पेश किए गए थे, जबकि BS4 standard 2017 में सख्त उत्सर्जन मानकों या मानदंडों के प्रभाव में लाया गया था।

  • सबस पहले तो आपको बता देते हैं कि बीएस (BS) का मतलब होता है भारत स्टेज। इसका सीधा संबंध Emission standards से होता है। दरअसल बीएस-6 इंजन से लैस वाहनों में खास फिल्टर लगेंगे, जिससे 80-90 फीसदी पीएम 2.5 जैसे कण रोके जा सकेंगे इससे नाइट्रोजन ऑक्साइड पर नियंत्रण लग सकेगा। जिसकी वजह से प्रदूषण पर पर नियत्रण पा सकेंगे।

  • BS6 Emissions human emission norms का छठा repetition है और Comparative रूप से, यह निवर्तमान BS4 की तुलना में प्रदूषण को कम करने के मामले में एक महत्वपूर्ण छलांग है। ऐसा इसलिए भी है क्योंकि BS5 (BSV) को बेहतर उत्सर्जन मानकों पर खिसकने के प्रयास में छोड़ दिया गया है।

  • परिवहन विशेषज्ञों और ऑटो एक्सपर्ट के मुताबिक बीएस-6 गाड़ियों में हवा में प्रदूषण के कण 0.05 से घटकर 0.01 रह जाएंगे। जिससे वातावरण साफ़ रहेगा। बीएस-6 इंजन से लैस गाड़ियों से (पेट्रोल और डीजल) होने पर प्रदूषण 75 फीसदी तक कम होगा।


BS4 और BS6 में क्या अंतर है।

यह सवाल काफी अहम् है कि BS -4 की तुलना में BS -6 कितना अलग है। तो यहां हम आपको बता दें कि 
बीएस-6 में प्रदूषण फैलाने वाले खतरनाक पदार्थ काफी कम होंगे।

जानकारी के लिए बता दें कि BS -4 और BS-3 फ्यूल में सल्फर की मात्रा 50 PPM तक होती है जोकि हमारे लिए काफी खतरनाक है जबकि BS -6 में यह सिर्फ 10 PPM तक रह जाती है, यानी प्रदूषण काफी कम होगा।

BS -6 इंजन से लैस नई गाड़ियों की माइलेज पर भी असर पड़ेगा। ये BS-4  गाड़ियां से  ये ज्यादा माइलेज देंगी। वही माइलेज को लेकर कोई भी वाहन कंपनी माइलेज का झूठा दावा भी नहीं कर सकेगी क्योकिं नियम लागू होने पर कंपनियों को इसका पालन करना होगा। 

BS -6 गाड़ियों के आने से न केवल गाड़ियां बेहतर होंगी वही प्रदूषण पर भी काफी हद तक रोक लग सकेगी। जिस तरह देश में सड़कों पर लगातार गाड़ियां बढ़ रही हैं उसे देखते हुए BS -6 इंजन वाले वाहन काफी उपयोगी साबित होंगे। प्रदूषण कम होगा तो लाइफ कुछ और बेहतर होगी। कुछ और नहीं तो कम से कम खुलकर सांस ही ले सकेंगे।

BS-6 गाड़ियां महंगी होने के कारण।


BS -6 इंजन से लैस गाड़ियों की कीमत में भी इजाफा होगा क्योकिं BS -6 के लिए नया इंजन और इसमें इलेक्ट्रिकल वायरिंग बदलने का कॉस्ट बढ़ जायेगी। इतना ही नहीं बीएस-6 से गाड़ियों की इंजन की क्षमता बढ़ेगी जिससे Emission कम होगा।

जिसकी वजह से कंपनी को गाड़ियों के दाम बढ़ाने पर मजबूर होना पड़ेगा। बीएस-6 गाड़ियां 15 फीसदी तक महंगी होंगी। इतना ही नहीं BS -6 फ्यूल (पेट्रोल-डीजल) की कीमत 1.5 से 2 रुपये प्रति लीटर तक महंगी हो सकती है।





What is stock market? । शेयर बाज़ार क्या है

March 03, 2020

What is stock market? । शेयर बाज़ार क्या है 

What is stock market? । शेयर बाज़ार क्या है
wwwbusinessesmanagement.com

शेयर बाजार (Share Market) जैसा कि नाम से ही पता चल रहा है कि शेयर का बाज़ार ठीक समझे है आप। ठीक उसी प्रकार जैसे सब्जी बाजार वहाँ सब्जी किसान लेकर बाजार में जाते है यहाँ कंपनी अपना शेयर लेकर बाजार जाते है।

अब इसमे फर्क देखने को मिल सकता है आपको सब्जी का बाजार इंडिया में या राज्य में या जिला में या गांव में कई सारी हो सकती है लेकिन शेयर का बाजार India में दो ही है । पहला (NSE) National Stock exchange और दूसरा (BSE) Bombay stock exchange. 

  • Share बाजार में निवेश के कई तरीके है। जैसे शेयर, बॉन्ड्स, डिबेंचर, म्यूचअल फंड,।प्रत्येक प्रत्येक प्रकार के निवेश के लाभ तथा उधेश्य अलग अलग होते है। निवेश के इन तरीको में शेयर बाजार में किया गया निवेश सर्बधिक लोकप्रिय और आम है ।आजकल तो इश्का चलन बहुत तेजी से बढ़ रहा है।

  • अगर शेयर को हिंदी में अनुबाद करे तो इसको- बाटना कहते है।वास्तव में यह प्रोसेस बाटने का ही होता है।दरअसल शेयर खरीदना मतलब किसी कंपनी में अपना भागीदारी खरीदने का तरीका है और हिस्सदारी बनाने के तरीके है। इस प्रकार के निवेश में कंपनी से जुड़ी फायदे में से आपको फायदा मिलता है तो दूसरी तरफ कंपनी से जुड़ी घाटे में आप को घाटे का सामना झेलना पड़ेगा।

  • कंपनी के शेयर खरीदना तथा बेचना निवेश की गतिविधियां है वह निवेशक जो किशी कंपनी का शेयर खरीद लेता है तब वो उस कंपनी का शेयर होल्डर कहलाता है। दूसरे शब्दों में शेयर की खरीदारी को equity की खरीदारी भी कहा जाता है।तो यदि आप शेयर की जगह अगर equity और Scrips सुने तो भर्मित होने की जरुरत नहीं है। क्योंकि तीनो का अर्थ एक ही है ।शेयर को हमेशा कंपनी के साथ जोड़कर देखा जाता है


शेयर की खरीद और बेचने का प्रोसेस। 


शेयर की खरीद और बिक्री दो तरीको से की जाती है। कंपनी स्टॉक एक्स्चेंज में रजिस्टर होती है और इनके शेयर स्टॉक एक्सचेंज बेचता है। 

अब आप शेयर ब्रोकर के माध्यम से स्टॉक एक्सचेंज से खरीद या बेच सकते है या डायरेक्ट डिजिटल उपकरण के माध्यम से डायरेक्ट स्टॉक्स एक्सचेंज से खरीद या बेच सकते है। 

दूसरा तरीका की आप डायरेक्ट कंपनी से भी शेयर खरीद सकते है जब कंपनी पहली बार अपना शेयर लाती है तो निवेशकों को खरीदने का मौका उपलब्ध कराती है उसकी (IPO) आईपीओ एनसीएल पुब्लिक ऑफर (Initial Public Offer) कहते है। उसके बाद आने वाला सारा ऑफर पब्लिक ऑफर कहलाते है। 

निवेशकों को खरीदने के लिए परस्तुत किये जाने वाले शेयर या तो कंपनी द्वारा जारी किए गए नए शेयर हो सकते है या कंपनी अपने हिस्से का शेयर का कुछ भाग पबलिक के लिए प्रस्तुत करती है। इस प्रकार शेयर कंपनी द्वारा आम निवेशक से पूजी उगाहने का एक ओजार है।






 

Copyright (c) 2020 Businessesmanagement.com All Right Reseved

Copyright © Business Management . businessesmanagement | Distributed By Business Management Templates